Tuesday, December 6, 2022
Homeजीवन-शैलीEating Jaggery: जानें गुड़ खाने के फायदे और नुकसान

Eating Jaggery: जानें गुड़ खाने के फायदे और नुकसान

गुड़ की मिठास शायद ही किसी को ना पसंद हो। ऐसे में यह जानना जरूरी हो जाता है कि गुड़ खाने के फायदे और नुकसान हो सकते हैं। गुड़ खाने के अपने कई स्वास्थ्य लाभ भी है, अगर सर्दियों में गुड़ खाया जाए तो गुड़ शरीर को गर्म रखता है और ये कई बीमारियां भी बचाता है। गुड़ का इस्तेमाल करने से खांसी-जुकाम से बचाव के साथ-साथ रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में भी काफी मददगार है। तो आइए, जानते हैं गुड़ खाने के फायदे और नुकसान-

गुड़ खाने के फायदे:

त्वचा के गुड़ है गुड़कारी-

गुड में विटामि -A और विटामिन-B, सुक्रोज, ग्लूकोज, आयरन, कैल्शियम, फास्फोरस, पोटेशियम, जस्ता, मैग्नेशियम तत्व पाए जाते हैं। फास्फोरस की मात्रा अधिक रहती है। गुड़ में कई तरह के आवश्यक मिनरल्स और विटामिन भी होते है। जो त्वचा के लिए प्राकृतिक क्लींजर का काम करते है। ये शरीर को अंदर से साफ रखते है, जो त्वचा के ग्लो करने के लिए बहुत आवश्यक होता है शरीर के तापमान को नियंत्रित रखने में गुड़ सहायक होता है। गुनगुने पानी या फिर चाय में शकर की जगह गुड़ लेना एक बेहतर उपाय हो सकता है, इससे सेहत और सुंदरता दोनों तरह से लाभ होगा।

दाग-धब्बों और झाइयों में लाभप्रद-

अगर चेहरे पर दाग-धब्बों और झाइयों हो तो गुड़ का फेस पैक बनाकर उपयोग किया जा सकता है। इस पैक को बनाने के लिए 1 चम्मच गुड़ पाउडर लें और उसमें 1 चम्मच टमाटर व नींबू का रस और चुटकी हल्दी की मिक्स कर लें। इसे अपने चेहरे पर लगभग 15 मिनट लगाए रखे इसके बाद सामान्य पानी से धो लें।

झुर्रियों में गुड़ है लाभप्रद-

1 चम्मच पिसे हुए गुड़ में 1 चम्मच काली चाय पिसी हुए, 1 चम्मच अंगूर का रस, एक चुटकी हल्दी समेत थोड़ा सा गुलाब-जल मिक्स करें। इस मिश्रण को अपने चेहरे पर 20 मिनट के लिए लगाकर छोड़ दें। बादमे इसे पानी से धो लें।

एसिडिटी और कब्ज से छुटकारा-

अगर आपको गैस या एसिडिटी है, तो गुड़ खाने से फायदा मिलेगा ही। साथ ही अगर गुड़, सेंधा नमक और काला नमक मिलाकर खाया जाए तो यह खट्टी डकारों से छुटकारा दे सकता है।

गुड़ पाचन एंजाइम को सक्रिय करता है जिससे पेट में कब्ज की समस्या नहीं होती है। यह डाइयूरेटिक के रूप में भी काम करता है और मल को जमा नहीं होने देता है। नियमित भोजन के बाद एक छोटा टुकड़ा गुड़ का सेवन करने से पाचन क्रिया बेहतर होती है और भोजन आसानी से पच जाता है।

खून की कमी दूर करने में मददगार-

गुड़ आयरन का बहुत अच्छा स्रोत है। अगर शरीर में हिमोग्लोबिन कम है, तो रोजाना गुड़ खाने से तुरंत लाभ मिलेगा। गुड़ खाने से शरीर में लाल रक्त़ कोशिकाओं की मात्रा बढ़ती है। जिससे रक्त सबंधी बीमारिया दूर होती है।

कंट्रोल रहेगा ब्लड प्रेशर-

गुड़ ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने का काम भी करता है। आयुर्वेद में खासतौर पर हाई ब्लड प्रेशर के मरीज को रोजाना गुड़ खाने की सलाह दी जाती है।

गुड़ करे हड्डियां मजबूत-

गुड़ में भरपूर मात्रा में कैल्शियम और फास्फोरस पाया जाता है। यह दोनों तत्व हड्डियों को मजबूती बनाने में बेहद मददगार हैं। गुड़ के साथ अदरक खाने से जोड़ों के दर्द में भी राहत मिलता है।

शरीर रहेगा मजबूत और एक्टिव-

गुड़ में भरपूर मात्रा में मौजूद कैल्शियम शरीर को मजबूत और एक्टिव बनाए रखता है। शारीरिक कमजोरी दूर करने के लिए दूध के साथ गुड़ का सेवन करने की सलाह दी जाती है जिससे शरीर ऊर्जावान होता है। अगर किसी को दूध पीना पसंद नहीं है, तो एक कप पानी में 5 से 10 ग्राम गुड़, थोड़ा सा नींबू का रस और काला नमक मिलाकर पीये इससे थकान नहीं लगेगी, और शरीर का स्टेमिना बढ़ेगा।

सर्दी-जुकाम का रामबाण इलाज-

गुड़ सर्दी-जुकाम में काफी राहत पहुंचा है। सर्दी-जुकाम में होने पर गुड़ में काली मिर्च और अदरक खाने से बहुत आराम मिलता है। खांसी से बचने के लिए चीनी के बजाए गुड़ खाना बेहतर होता है। अगर गले में खरास या जलन है तो गुड़ को अदरक के साथ गर्म करके खाएं, काफी आराम मिलेगी।

गुड़ इम्यूनिटी बढ़ाने में मददगार-

इम्यूनिटी गुड़ खाने के फायदे की बात करें तो स्वास्थ्य विशेषज्ञों के मुताबिक कोई भी भोजन जो पोषक तत्वों से भरपूर हो और शरीर को डिटॉक्स करने में मदद करता है, वह आपकी इम्यूनिटी के लिए भी बेहतर हो सकता है। गुड़ रक्त में हीमोग्लोबिन को भी बढ़ाता है। गुड़ में भरपूर मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट और जिंक एवं सेलेनियम जैसे खनिज तत्व पाए जाते हैं जो फ्री रेडिकल की क्षति को रोककर इम्यूनिटी को बढ़ाने में मदद करता है। इससे शरीर में वायरस के संक्रमण एवं अन्य बीमारियां से बचाव होता है।

पीरियड का दर्द कम करने में मददगार-

गुड़ में पाए जाने वाले पोषक तत्व पीरियड के दौरान पेट में होने वाले दर्द और ऐंठन को कम करने में मदद करते हैं। साथ ही मूड भी फ्रेश रखता है। गुड़ एंडोर्फिन का स्राव करता है जिससे शरीर को राहत मिलती है। प्री मेंस्ट्रुअल सिंड्रोम के लक्षणों से बचाव के लिए रोजाना एक टुकड़ा गुड़ का सेवन करना चाहिए।

गुड़ खाने का सही समय व मौसम-

गुड़ खाने का सही समय व मौसम की बात करें तो शरद ऋतु यानी सर्दियों के मौसम में गुड़ खाने का अपना एक बेहतर अनुभव है, चाहे आप इसे खाने के बाद सौफ के साथ लें या फिर तरह तरह सर्दियों बनाये जाने वाले पकवानों के साथ लें जैसे – तिलकुट, तिलवा (तिल का लड्डू), लाई का लड्डू, भुना चना, पुआ इत्यादि। सर्दियों के मौसम में इन सबका सेवन करने का अपना एक अलग मज़ा और साथ ही स्वास्थ्य के लिए भी काफी बेहतर है।

अगर गर्मियों के मौसम की बात की जाये तो इस मौसम में गुड़ का वो कड़कपन ख़त्म हो जाता है जिससे खाने में वो स्वाद और आनंद नहीं मिल सकता जो सर्दियों में मिल सकता है। गुड़ की तासीर गर्म होने के कारण इसका सेवन गर्मियों में कम करना ही ठीक होता है। अगर गर्मियों में सेवन करना ही हो हमेश खाने के बाद सौफ के साथ लें जिसके अपने कई स्वास्थ्य लाभ भी मिलेंगे। गर्मियों में गुड़ की लस्सी या शरबत पीना भी एक अच्छा विकल्प हो सकता है।

रात के समय गुड़ खाने के फायदे?

गुड़ प्राकृतिक मिठास के साथ सेहत के लिए काफी फायदेमंद तत्वों भरपूर होता है, इसलिए लोग आमतौर पर भोजन के बाद गुड़ का सेवन करते हैं। गुड़ को कच्चे और सांद्र गन्ने के रस को उबालकर बनाया जाता है। पोषक तत्वों से भरपूर होने के कारण ज्यादातर भारतीय घरों में बड़े पैमाने पर गुड़ का इस्तेमाल होता है। गुड़ में प्रोटीन, विटामिन बी12, बी6, फोलेट, कैल्शियम, आयरन, फॉस्फोरस और सेलेनियम जैसे जरूरी खनिज तत्व पाए जाते हैं। इसमें वसा की मात्रा नहीं होती है। इसलिए गुड़ वजन घटाने में भी काफी मदद भी करता है। गुड़ को अगर रात में खाने के बाद लिया जाए तो यह पेट की कब्ज और ऐसिडी जैसी समस्याओं को दूर तो करता ही है साथ ही सुबह आपका पेट भी ठीक से साफ़ होगा, जिससे पाचन क्रिया दुरुस्त रहेगी।

यह भी पढ़ें:
जानिए अदरक और गुड़ खाने के औषधीय फायदे
एक दिन में कितने बादाम खाने चाहिए, जानें बादाम खाने का सही तरीका, फायदे व नुकसान
धनिया का पानी पीने के फायदे, इन 3 तरीके से करें तैयार

गुड़ का अधिक सेवन बन सकता है इन बीमारियों का कारण-

जहाँ गुड़ का सेवन स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद होता है, वहीँ अधिक मात्रा में सेवन करने से कई तरह की समस्याओं का सामना भी करना पड़ सकता है। सीमित मात्रा में गुड़ का सेवन करने से आप कई तरह की बीमारियों से सुरक्षित रह सकते हैं। स्वस्थ रहने के लिए गुड़ का सेवन सीमित मात्रा में ही करना चाहिए। भोजन में किसी भी चीज के अधिकता परेशानी का शबाब बन सकती है तो आज हम आपको गुड़ का अधिक सेवन करने से होने वाले नुकसानों के बारे में बताने की कोशिश करेंगे। गुड़ का अधिक सेवन करने से कई तरह की बीमारियों का खतरा भी रहता है।

डायबिटीज की संभावना-

गुड़ का अधिक मात्रा में सेवन करने से डायबिटीज का शिकार होने की संभावना को बढ़ाता है। जाहिर सी बात है गुड़ का अधिक सेवन करने से ब्लड शुगर लेवल बढ़ सकता है, जिससे डायबिटीज की संभावना तो हो ही सकती है। अच्छा हो कि स्वस्थ और फिटनेस के लिए गुड़ का सेवन सीमित मात्रा में ही करें।

ज्यादा गुड़ का सेवन वजन बढ़ा सकता है-

गुड़ का सेवन अधिक मात्रा में करने से वजन बढ़ने का खतरा भी रहता है। जो लोग अपना वजन नियंत्रण रखना चाहते हैं उन्हें गुड़ के सेवन से परहेज करना चाहिए। बढ़ता वजन स्वास्थ्य के लिए काफी हानिकारक होता है। बीमारियों से सुरक्षित रहने के लिए वजन को नियंत्रण में रखना बहुत जरूरी है।

शरीर में जलन और सूजन की समभावना-

गुड़ में सुक्रोज काफी मात्रा में पाया जाता है जो शरीर में बनने वाले ओमेगा-3 फैटी एसिड में दखल दे सकता है, जिससे शरीर में जलन और सूजन की समस्या बन सकती है। खासकर जिन लोगों को एलर्जिक बीमारियां जल्दी हो जाती हैं उन्हें गुड़ के सेवन से बचना चाहिए या फिर बहुत कम मात्रा में करना करना चाहिए। गठिया के मरीजों को भी गुड़ का सेवन से बचना चाहिए।

नाक से खून स्राव की समस्या-

गुड़ की तासीर काफी गर्म होने के कारण इसका अधिक सेवन करने से नाक से खून का स्राव भी हो सकता है। जिन लोगो में ऐसी समस्या हो उन्हें गर्मियों में गुड़ का सेवन कतई नहीं करना चाहिए। सर्दियों में भी गुड़ का सेवन सीमित मात्रा में ही करें।

(Disclaimer : इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारियों पर आधारित हैं। Rashtra Bandhu इनकी पुष्टि नहीं करता है। इन पर अमल करने से पहले अपने डॉक्टर से सलाह अवश्य लें।)

राष्ट्रबंधु की नवीनतम अपडेट्स पाने के लिए हमारा Facebook पेज लाइक करें और अपने पसंदीदा आर्टिकल्स को शेयर करना न भूलें।

Ranjeeta
Ranjeetahttps://www.rashtrabandhu.com
My self Ranjeeta, I've passed out MCA from Bodhgaya University. I love to write in my spare time.
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments